विदेश मंत्री अदेल अल-जुबेइर ने रियाद में अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिल्लरसन के साथ एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि दोनों देशों के बीच 380 अरब डॉलर से अधिक के समझौते पर हस्ताक्षर किए गए हैं और ये समझौते 10 साल की अवधि में लागू किए जाएंगे.

विदेश मंत्री ने कहा कि दोनों राज्यों ने ईरानन द्वारा आतंकवाद को वित्तपोषण और बैलिस्टिक मिसाइलों की फायरिंग और साथ ही साथ इस क्षेत्र के देशों के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप को रोकने पर सहमति जताई है.

और पढ़े -   मिस्र ने हाजियों के लिए गाजा क्रासिंग को खोला

अमेरिका के साथ ‘अप्रत्याशित’ समझौते पर हस्ताक्षर करते हुए, अल-जुबेइर ने कहा कि ये समझौता दोनों देशों के बीच मजबूत रणनीतिक साझेदारी बनाने के लिए प्रेरित करेगा.

उन्होंने कहा, “हम रक्षा क्षमताओं को बढ़ाने और संयुक्त रक्षा सहयोग के लिए एक नया डिजाइन बनाने के अलावा विभिन्न तरीकों से अतिवाद और आतंकवाद से निपटेंगे.”

अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिल्लरसन ने कहा कि सऊदी अरब के साथ हस्ताक्षर किए गए 110 अरब डॉलर के हथियार समझौते का उद्देश्य “ईरानी के दुर्भावनापूर्ण प्रभाव से निपटने में मदद करना है.

और पढ़े -   डोकलाम विवाद से उपजे तनाव के लिए चीन ने ठहराया पीएम मोदी को जिम्मेदार: चीन

टिलरसन ने कहा, “रियाद में रक्षा उपकरणों और सेवाओं का पैकेज सऊदी अरब और पूरे खाड़ी क्षेत्र की दीर्घकालिक सुरक्षा का समर्थन करता है,”


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE