क़तर के शासक तमीम बिन हम्द आले सानी की और से सऊदी अरब और उसके सहयोगी देशों से बातचीत की पेशकश को सऊदी अरब ने ठुकरा दिया है.

सऊदी अरब के विदेशमंत्री आदिल अलजुबैर का कहना है कि दोहा के साथ वार्ता का कोई कार्यक्रम नहीं है बल्कि क़तर को चाहिए कि वह अपने ऊपर लगे आरोपों का जवाब दे. ध्यान रहे क़तर अमीर ने दोहा के आंरतिक मामलों में हस्तक्षेप न करने की शर्त पर बातचीत पर जोर दिया था.

और पढ़े -   क़तर संकट को लेकर सेनेगाल ने मानी गलती, अपने राजदूत को वापस क़तर भेजा

रोम में इटली के विदेशमंत्री के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में सऊदी अरब के विदेशमंत्री ने कहा कि क़तर के साथ वार्ता का कोई कार्यक्रम इसलिए नहीं है क्योंकि मुख्य मुद्दा केवल वार्ता नहीं है बल्कि यह स्पष्ट हो कि आतंकवाद का समर्थन सही है या ग़लत.

आदिल अलजुबैर ने कहा कि मिस्र, बहरैन, संयुक्त अरब इमारात और सऊदी अरब  की स्पष्ट नीति यह है कि आतंकवाद का समर्थन बंद किया जाए. उन्होंने कहा कि संकट का समाधान बहुत ही सरल है और वह यह है कि क़तर, हमारी मांगों को मानकर उन्हें व्यवहारिक बनाए.

और पढ़े -   कुवैत अमीर मिस्र में खरीद सकेंगे अब जमीन, अल सीसी ने दी मंजूरी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE