सउदी अरब से एक भारतीय ने मदद की गुहार लगाई है। ऐहसान आलम का नाम के इस युवक ने वीडियो भेजकर भारत सरकार से मदद मांगी है। ऐहसान आलम के मालिक ने उसका पासपोर्ट जब्त कर लिया है, और ऐहसान प्रताड़ना का शिकार हो रहा है।

कंपनी के मालिक ने अहसान का पासपोर्ट, वीजा और दूसरे जरुरी कागजात जब्त कर चुका है। मालिक अहसान के साथ मारपीट कर रहा है। इसके साथ ही मालिक अहसान को ये धमकी भी रहा है कि वो उसे वापस भारत लौटने नहीं देगा। पराए देश में गैरों के बीच अहसान आलम अपनी जिंदगी के सबसे मुश्किल दौर से गुजर रहे हैं। वो सउदी के भारतीय दूतावास में भी संपर्क कर अपनी दिक्कत बता चुके हैं, लेकिन अब तक अहसान आलम को कोई भी मदद नहीं मिल पाई है।

और पढ़े -   तुर्की का क़तर को समर्थन आगे भी जारी रहेगा: रजब तैयब अर्दोग़ान

मूलरुप से बिहार के समस्तीपुर के रहने वाले अहसान आलम बीते कई महीनों से सउदी में बंधक बन कर रह रहे हैं। अहसान आलम के साथ जो हो रहा है, उसके लिए वो एजेंट भी जिम्मेदार है, जिसने एहसान को सउदी में काम दिलाने का दावा किया था। अहसान की माने तो वो हैवी व्हीकल का ड्राइवर हैं। एजेंट ने उसे सउदी में हैवी व्हीकल चलाने की नौकरी का वादा किया था, लेकिन हकीकत में ऐसा नहीं हुआ। सउदी में एहसान को छोटी गाड़ी का ड्राइवर बना दिया गया।

और पढ़े -   कतर संकट को सुलझाने के लिए हमारी प्राथमिकता कूटनीति: संयुक्त अरब अमीरात

और बात सिर्फ एजेंट के धोखे की नहीं है। मामला बहुत ज्यादा गंभीर है। सउदी में ऐहसान आलम अब नौकरी के नाम पर बंधक बन चुका है। ऐहसान आलम के पास ना तो पासपोर्ट हैं, और दूसरे जरुरी कागजात। ऐसे में अब ऐहसान की आखिरी उम्मीद किसी से बाकी हैं, तो अपने ही देश से है। (News24)


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE