वहाबी सलाफी स्कॉलर जाकिर नाईक को सऊदी अरब ने स्थाई नागरिकता प्रदान की है. कहा जा रहा है कि इंटरपोल की गिरफ्तारी से बचाने के लिए सऊदी हुकूमत ने जाकिर नाईक को ये नागरिकता प्रदान की है.

दरअसल, भारत में आंतकी गतिविधयों में संलिप्ता के कथित आरोपों के चलते प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की विशेष अदालत ने गैर जमानती वारंट जारी किया हुआ है. इस बारें में उनके खिलाफ चार बार समन किया जा चूका है. लेकिन वे एक बार भी उपस्थित नहीं हुए.

और पढ़े -   एर्दोगान ने दी रूहानी को दोबारा राष्ट्रपति बनने पर दी मुबारकबाद, रूहानी बोले - ईरान व तुर्की का क्षेत्रीय सहयोग अहम

ऐसे में भारत सरकार इंटरपोल की मदद से जाकिर नाईक की गिरफ्तारी सुनिश्चित करना चाहती थी. कहा जा रहा है कि भारत सरकार ने उनका पासपोर्ट रद्द कर दिया है.

अरब सूत्रों ने बताया कि किंग सलमान ने नाइक को इंटरपोल द्वारा गिरफ्तारी से बचाने के लिए सऊदी नागरिकता प्रदान की है


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE