hajj-yatra-5316ca4f6a9f2_exlst

ईरान और सऊदी अरब अपने कटु संबंधो के कारण हमेशा चर्चा में रहते है यमन पर सऊदी की सैनिक करवाई हो या पिछले वर्ष हज दुर्घटना में सबसे अधिक ईरानियों का मारा जाना, दोनों देशों के बीच आरोप प्रत्यारोप का सिलसिला जारी रहता है जिसके कारण दोनों देशों में आपसी तालमेल नही बैठ पाता।

ताज़ा घटनाक्रम के चलते इस बार ईरानी लोग हज यात्रा पर नही जा सकेगें.  ईरान के सांस्कृतिक मामलों के मंत्री ने स्पष्ट किया है कि सऊदी अरब की ओर से किये जाने वाले उल्लंघनों के कारण इस वर्ष ईरानियों के लिए हज की परिस्थतियां अनुकूल नहीं हैं।

और पढ़े -   क़तर पर बहरीन ने किए तेवर ढीले, कहा - कतरी भाई हमारे अपने, बस बदल ले अपनी नीतियाँ

ईरान के सांस्कृतिक मामलों के मंत्री ने कहा है कि सऊदी सरकार से काफी लम्बे समय से ईरानी लोगो को वीजा देने सम्बन्धी बातचीत चल रही थी लेकिन सऊदी सरकार ने कोई जवाब नही दिया है फिर भी अगर ईरानी लोग हज पर जाना चाहते है तो ईरान से किसी और मुल्क जाए तथा वहां से वीजा लेकर सऊदी पहुंचे, अली जन्नती ने कहा कि इस तरह की बातों को देखते हुए यह कहना पड़ रहा है कि ईरानियों के लिए इस साल हज पर जाने की परिस्थितियां अनुकूल नहीं हैं।

और पढ़े -   इटैलियन सांसद की बेटी ने अपनाया इस्लाम धर्म, नाम रखा आयशा

ईरानी मीडिया के अनुसार ईरान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सादिक़ हुसैन जाबिरी अंसारी ने कहा था कि अगर इस साल के हज के लिए ईरानी श्रद्धालुओं को वीज़ा देने के संबंध में सऊदी अरब से मतभेद दूर न हुए तो हज के लिए ईरानी हाजियों का रास्ता बंद करने का उत्तरदाई सऊदी अरब होगा।

जाबिरी अंसारी ने कहा कि वीज़ा देने का काम करने के लिए सऊदी अरब के जितने भी कर्मचारी ईरान आना चाहें ईरान उन्हें वीज़ा देने को तैयार है।

और पढ़े -   सऊदी अरब 1 जुलाई से लागू करेगा 'डिपेंडेंट टैक्स', विदेशी कामगारों को झेलनी होगी आर्थिक मार

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE