रियाद। सऊदी अरब की लेबर पॉलिसी में बदलाव ने वहां काम करने वाले सैकड़ों विदेशी लोगों के लिए मुश्किलें खड़ी कर दी हैं। दरअसल सऊदी अरब के श्रम मंत्रालय ने वहां के नागरिकों के लिए रोजगार अवसर बढ़ाने के लिए श्रम कानूनों में बदलाव किए, जिसमें कहा गया कि छह महीनों के भीतर विदेशियों के मोबाइल फोन सही करने और उन्हें बेचने पर रोक लगा दी जाएगी।

और पढ़े -   व्हाइट हाउस में भी शुरू हुआ ट्रम्प का विरोध, प्रेस सचिव शॉन स्पाइसर का इस्तीफा

saudi arabia labor rule

कच्चे तेल के दामों में लगातार गिरावट के चलते सऊदी अरब की अर्थव्यवस्था फिलहाल मुश्किल के दौर में है, ऐसे में उन लोगों के लिए नौकरी के अवसर सीमित किए जा रहे हैं जो कि सऊदी अरब के नागरिक नहीं है और महज रोजगार की तलाश में वहां पहुंच रहे हैं।

सऊदी अरब के सेंट्रल बैंक के मुताबिक नौकरी के लिए दूसरे देशों से आने वाले लोगों ने 2015 की तीसरी तिमाही में 9 अरब डॉलर की धनराशि घर भेजी। यह लोग जो पैसा भेजते हैं, इससे उनका देश के प्रति योगदान कम हो जाता है।

और पढ़े -   क़तर संकट: सऊदी और उसके सहयोगी देशों ने 13 में से 7 मांगों को किया खत्म

सऊदी अरब की जीडीपी पर भी तेल की कीमतों का असर हुआ है। 2006 से 2015 तक पांच प्रतिशत की दर से बढऩे वाली सऊदी अर्थव्यवस्था का आंकड़ा इस साल दो प्रतिशत पर आ गया है। श्रम कानूनों में कड़ाई, सऊदी नागरिकों को नौकरी से निकालने के कड़े प्रावधान और ऐसे ही अन्य नियमों से बाहरी लोग प्रभावित होंगे


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE