सऊदी अरब ने बिना वीजा के रह रहे 20 हजार भारतीय श्रमिकों को माफ़ी देते हुए वतन वापसी की इजाजत दे दी है. ये माफ़ी 90 दिनों के लिए दी गई हैं. यानि इन सभी को 90 दिनों के भीतर देश वापसी करनी होगी.

दरअसल ये सभी सऊदी अरब कबूतरबाजो के जरिये पहंचे थे. जो वीजा सीमा की अवधि पूरी होने के बाद भी वहां रहने को मजबूर हैं. इनमें सबसे ज्‍यादा संख्‍या तमिलनाडु के लोगों की है. फिर उत्‍तर प्रदेश और बिहार लोग हैं.

और पढ़े -   इराक आया मुस्लिम ब्रदरहुड के समर्थन में कतर का भी किया बचाव

इस बारे में भारतीय दूतावास के लोक कल्याण परामर्शक अनिल नौटियाल ने कहा कि सरकार द्वारा दी गई ‘राजमाफी’ के तहत मंगलवार तक 20,231 लोगों ने भारत लौटने के लिए अर्जी दाखिल की है. लोगों को 90 दिनों के अंदर भारत भेजने के लिए सऊदी अरब सरकार की ओर से रियाद में विशेष सेंटर बनाया है.

उन्होंने बताया कि इस सेंटर से भारतीय अपने वतन लौटने की अर्जी दाखिल कर सकते हैं. भारतीय दूतावास ने सऊदी अरब में गैर-कानूनी तरीके से रह रहे सभी भारतीयों ने वापस घर लौटने की अपील की थी. इससे पहले 2013 में भी इसी तरह का एक ऑफर दिया गया था, लेकिन वह सिर्फ रियाद और जेद्दा में रहने वाले भारतीयों के लिए ही था. लिहाजा काफी लोग अपने वतन नहीं लौट पाए थे.

और पढ़े -   लंदन: मस्जिद में बना विश्व का सबसे बड़ा समोसा, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में हुआ दर्ज

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE