क़तर और सऊदी अरब गुट के बीच जुबानी जंग दिन-प्रतिदिन तेज होती जा रही है. सऊदी अरब उसके सहयोगी देशों ने क़तर पर आतंकियों को मदद करने के आरोप में रिश्तें तोड़े थे. लेकिन अब क़तर ने भी सऊदी अरब और यूएई पर आतंकी संगठनों की मदद देने के आरोप लगाए है.

वाशिंग्टन स्थित क़तर दूतावास से 26 अक्तूबर को क़तर के विदेशमंत्री अब्दुर्रहमान आले सानी को मिले प्रमाण के आधार पर कहा गया कि सऊदी क्राउंन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान और संयुक्त अरब इमारात के क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन ज़ाएद आले नैहान अलक़ायदा और आईएसआईएस की मदद करते हैं.

और पढ़े -   जस्टिन टड्रो ने सू की से बात कर रोहिंग्या मुस्लिमों का खिलाफ हिंसा रोकने की मांग की

अमेरीका के उप वित्तमंत्री एडम ज़ोबीन का हवाला देकर कहा गया कि दोनों प्रिंस अली अबकर अलहसन और अब्दुल्लाह फ़ैसल अलअहदल से निरंतर संपर्क में रहे हैं जिनके नाम अमेरिकी आतंकवादियों की सूची में शामिल हैं.

इन प्रमाणों में अलक़ायदा के दो सरग़नों और सऊदी अरब की ख़ुफ़िया एजेन्सी के प्रमुख ख़ालिद बिन अली बिन अब्दुल्लाह अलहमीदान की ओर से अली अबकर की सीधे  मदद देने का ब्यौरा है.

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिमों के लिए तुर्की के मानवीय प्रयासों में डब्लूएचओ करेगा मदद

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE