अमरीका ने सीरिया में सेना उतारने के लिए सऊदी अरब को हरी झंडी दिखा दी है। गुरुवार को अमरीकी रक्षा मंत्री एश्टन कार्टर ने सीरिया में सैनिक भेजने के सऊदी अरब के फ़ैसले का स्वागत किया है।

उल्लेखनीय है कि सऊदी अरब, सीरिया और इराक़ में आतंकवादी गुटों का समर्थन करता रहा है, लेकिन हालिया दिनों में तकफ़ीरी आतंकवादियों के पैर उखड़ते देख, आतंकवादी गुटों के समर्थक देशों को अपने हितों की चिंता सताने लगी है, इसलिए अब वे सीधे रूप से इस संकट में अपने सैनिक झोंकना चाहते हैं।

और पढ़े -   सऊदी अरब की और से युद्ध की धमकी पर ईरान ने बदले में बढ़ाया शांति के लिए हाथ

यमन के ख़िलाफ़ युद्ध में सऊदी अरब का समर्थन करके पहले ही अमरीका इस अरब देश को ख़तरनाक युद्ध में धकेल चुका है और अब रही सही कसर वह सीरिया में पूरी करना चाहता है।

saudi arab will send army to Syria

यमन के भगोड़े राष्ट्रपति मंसूर हादी को सत्ता में वापस लौटाने का दावा करके मार्च 2015 में सऊदी अरब ने अपने पड़ोसी देश के ख़िलाफ़ व्यापक हवाई हमले शुरू किए थे, लेकिन 9 महीने से अधिक का समय बीत जाने के बाद भी सऊदी अरब अपना कोई लक्ष्य प्राप्त नहीं कर सका है।

और पढ़े -   ब्रिटेन में हुए धमाके के पीछे आत्मघाती हमलावर का था हाथ, मरने की वालो की संख्या पहुंची 22

सीरिया में सेना उतारने के सऊदी फ़ैसले का समर्थन करते हुए अमरीकी रक्षा मंत्री का कहना था कि इस तरह के समाचार का हम स्पष्ट रूप से स्वागत करते हैं। कार्टर ने कहा कि अगले हफ़्ते बेल्जियम में वह सऊदी रक्षा मंत्री के साथ मुलाक़ात में इस मुद्दे पर चर्चा करेंगे।

इस बीच, अटैकदीसिस्टम.कॉम के निदेशक एवं मुख्य संपादक कीथ प्रेस्टन ने सऊदी अरब के नेतृत्व में आतंकवाद से लड़ने वाले गठबंधन को “हास्यास्पद” बताते हुए कहा है कि जिस आतंकवाद से लड़ने की सऊदी अरब बात कर रहा है, वह ख़ुद वहाबीयत और उसके कट्टरपंथी सिद्धांतों से उपजा है।

और पढ़े -   उत्तरी कोरिया ने अमेरिका को झटका देते हुए फिर किया बैलेस्टिक मीज़ाइल का परीक्षण

खबर साभार – ईरान रेडियो तथा अल ज़जीरा 

Saudi Arabia will send army to Syria, America accepted request

Keywords – Saudi arabia,ISIS,Terrorist group,Syria


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE