इराक़ के प्रभावशाली वरिष्ठ शिया धर्मगुरु मुक़तदा सद्र ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की हालिया सऊदी अरब की यात्रा के दौरान आले सऊद सहित अरब नेताओं की मुलाक़ातों को एक घटिया हरकत करार देते हुए कहा कि इन लोगों ने अपना ईमान तक बेच दिया.

मुक़तदा सद्र ने अपने एक बयान में कहा है कि सऊदी अरब के शासकों की तरह, उसके घटक देशों के नेता भी ज़मीर फ़रोश हो गए हैं और उन्होंने अमरीका के हाथों अपनी इज्ज़्त गिरवी रख दी है.

और पढ़े -   अमेरिकी कांग्रेस: भारत और चीन में होगा युद्ध, अमेरिका के भारत से मजबूत होंगे सामरिक संबंध

बग़दाद में एक प्रेस कांफ़्रेंस को संबोधित करते हुए कहा, ट्रम्प के हाथ में हाथ देना एक घटिया हरकत है और अमरीका में भी सऊदी कट्टरवाद के रंग में रंग गया है. उन्होंने कहा कि मैं अरब और इस्लामी देशों से सिफ़ारिश करना चाहता हूं कि उन्हें अमरीका पर भरोसा नहीं करना चाहिए.

ग़ौरतल है कि अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प दो दिवसीय यात्रा पर रियाज़ पहुंचे हैं, जहां मिस्र, बहरैन और पाकिस्तान के अलावा कई अन्य देशों के नेता उनसे मिलने पहुंचे हैं.

और पढ़े -   शाह सलमान ने कत्तरी हाजियों के लिए सलवा बॉर्डर को खोलने का दिया आदेश

ट्रम्प की पत्नी मेलानिया ट्रम्प के सऊदी अरब की यात्रा के दौरान, सिर न ढकने का मुद्दा भी मुस्लिम देशों में बहस का विषय बना हुआ है और लोग आले सऊद की नीतियों की निंदा कर रहे हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE