रूस ने अमरीकी नौसैनिक डेस्ट्रायर के हाल में उसकी सीमा के क़रीब पहुंचने जैसे धमकी भरे क़दम की प्रतिक्रिया में कहा है कि उसकी सेना सभी ज़रूरी क़दम उठाएगी।

नेटो में रूस के दूत एलेक्ज़ैन्डर ग्रूशकोफ़ ने, नेटो और रूस के बीच दो साल से युक्रेन के विषय पर ख़राब चल रहे संबंध के बाद पहली बार इस सैन्य गठबंधन के साथ बैठक में अमरीका के हालिया क़दम के बारे में कहा, “यह रूस पर सैन्य दबाव बनाने की कोशिश है। हम इस क़दम के ख़िलाफ़ सभी ज़रूरी उपाय अपनाएंगे।”

और पढ़े -   सऊदी और इराक में होते मजबूत रिश्ते, जल्द खुलेंगे बसरा और नजफ में सऊदी दूतावास
20 अप्रैल को ब्रसल्ज़ में रूस-नेटो की बैठक के बाद पत्रकारों से बात करते एलेक्जैन्डर ग्रोशकोफ़

11 अप्रैल को अमरीका का गाइडेड मीज़ाईल डेस्ट्रायर यूएसएस कुक बाल्टिक में रूस के नौसैनिक अड्डे के क़रीब तक पहुंच गया था जिसके कारण रूस का युद्धक विमान फ़ौरन रवाना हुआ और अमरीकी युद्ध पोत के बग़ल से गूंजता हुआ निकल गया।

नेटो-रूस की बैठक में, नेटो में अमरीकी दूत ने डगलस लूट ने रूसी युद्धक विमान के इस तरह गुज़रने को असुरक्षित कहते हुए दावा किया कि जिस समय यह घटना घटी, अमरीकी डेस्ट्रायर अंतर्राष्ट्रीय जलक्षेत्र में अपने सामान्य कार्य पर था।

और पढ़े -   काबा के आगे लहराया तिरंगा, हज के दौरान मनाया यौमे आज़ादी

रूस-नेटो के बीच विवाद गहराता जा रहा है। नेटो रूस पर पूर्वी यूक्रेन में छापामारों का समर्थन करने का आरोप लगाता है जिसे मॉस्को रद्द करता है और तर्क देता है कि नेटो यूक्रेन की स्थिति को, रूस की सीमा के निकट आने के लिए, एक बहाने के तौर पर इस्तेमाल कर रहा है।

20 अप्रैल 2016 को ब्रसल्ज़ में नेटो के मुख्यालय में रूस-नेटो बैठक के बाद नेटो महासचिव जेन्स स्टालटेन्बर्ग प्रेस कान्फ़्रेंस में

इस बैठक के बाद नेटो के महासचिव जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने कहा, “युक्रेन संकट पर गहरे मतभेद हैं जिसमें आज की बैठक से कोई फ़र्क़ नहीं आया। हमने नेटो-रूस के बीच व्यवहारिक सहयोग रोक दिया है किन्तु हम सब इस बात पर सहमत हैं कि राजनैतिक बातचीत का मार्ग खुला रखना हमारे हित में है। इसका यह अर्थ नहीं है कि स्थिति सामान्य हो गयी है।”

और पढ़े -   जानिए: 1967 से मस्जिदुल अक़्सा पर होने वाले प्रमुख इस्राईली हमलो की जानकारी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE