stop

म्यांमार के अल्पसंख्यक समुदाय रोहिंग्या मुसलमानों के खिलाफ सुरक्षा बलों द्वारा किये जा रहे जुल्मों-सितम और अत्यचार के खिलाफ आवाज बुलंद करते हुए इंडोनेशिया के लोगो ने राजधानी जकार्ता में म्यांमार दूतावास के बाहर विरोध-प्रदर्शन किया.

गुरुवार को हुए इस प्रदर्शन में सेकड़ों लोगों ने हिस्सा लेकर म्यांमार के मजलूम मुस्लामानों के हक़ में आवाज उठाकर अंतराष्ट्रीय समुदाय से इस गंभीर समस्या की और ध्यान देने की मांग की.  दूतावास पर हुए इस अहिंसक प्रदर्शन में प्रदर्शनकारियों ने पारंपरिक सफेद कपड़ो में ‘सेव रोहिंग्या’ और ‘स्टॉप मुस्लिम जेनोसाइड इन म्यांमार’ लिखी हुई तख्तियां लेकर म्यांमार सरकार से इस कत्ले आम को रोके जाने की मांग की.

और पढ़े -   कुवैत अमीर मिस्र में खरीद सकेंगे अब जमीन, अल सीसी ने दी मंजूरी

संयुक्त राष्ट्र के शीर्ष अधिकारी जॉन मैकइस्सिक के अनुसार, म्यांमार सैन्य बल रोहिंग्या मुसलमानों की हत्याएं कर रहा हैं. जिससे मजबूर होकर वे बांग्लादेश भागने को मजबूर हो रहे हैं. म्यांमार की सेना और सीमा सुरक्षा पुलिस रोहिंग्या लोगों को सज़ा दे रहे हैं.

मैकइस्सिक के अनुसार, “सुरक्षा बल रोहिंग्या समुदाय के पुरुषों की हत्याएं कर रहे हैं, गोलियां चला रहे हैं, बच्चों का क़त्ल-ए-आम कर रहे हैं, महिलाओं से बलात्कार कर रहे हैं और घरों को आग रहे हैं जिससे ये लोग नदी पार करके बांग्लादेश में घुसने के लिए मजबूर हो रहे हैं.”

और पढ़े -   यमन युद्ध में मरने वाले 50 प्रतिशत बच्चे सऊदी हमलों में मरे: सयुंक्त राष्ट्र

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE