म्यांमार ने अगले हफ्ते हो रही एसोसिएशन ऑफ साउथईश एशियन नेशंस (आसियान) सांसदों की बैठक में रोहिंग्या मुस्लिमों की दिक्कत पर चर्चा को अवरुद्ध कर दिया है.

इंडोनेशिया ने आसियान के सांसदों के विचार-विमर्श में मौजूदा रोहिंगिया संकट को शामिल करने का प्रस्ताव दिया था लेकिन म्यांमार ने इस पर आपत्ति जताई है.

फिलिपींस हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव के उप सचिव जनरल अदसा ने कहा, “म्यांमार ने इस पर आपत्ति जताई … इसलिए, निश्चित रूप से हम इस मामले को पूरी तरह से चर्चा नहीं कर सकते हैं.”

और पढ़े -   अंतरराष्ट्रीय पत्रकारों की सयुंक्त राष्ट्र से मांग - 'म्यांमार में मुस्लिम होलोकॉस्ट को रोका जाए'

म्यांमार के आपत्तियों के बावजूद, आदासा ने कहा कि रोहंग्या संकट पर कुछ द्विपक्षीय समझौतों हो सकते हैं. ध्यान रहे संयुक्त राष्ट्र के अनुसार 25 अगस्त के बाद से, 310,000 से अधिक रोहिंगिया म्यांमार के पश्चिमी राज्य रोखिने से बांग्लादेश पहुंचे हैं.

आसियान सांसदों की विधानसभा के अध्यक्ष सदन सचिव जनरल सीसर पारेजा ने कहा कि सदस्य देशों विधानसभा के ढांचे के बाहर अलग द्विपक्षीय समझौतों को स्वतंत्र बनाने के लिए स्वतंत्र होंगे.

और पढ़े -   शेख सुल्तान बिन सुहिम अल-थानी ने क़तर संकट को खत्म करने के लिए बुलाई बैठक

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE