प्रतिबंधों के बावजूद क़तर बातचीत के लिए तैयार हो गया है. हालाँकि सऊदी गुट से ये बातचीत सशर्त होगी. क़तर ने आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करने की शर्त पर बातचीत के लिए हाँ की है.

क़तर के शासक तमीम बिन हम्द आले सानी ने कहा कि बातचीत इस शर्त पर होगी कि दोहा के आंरतिक मामलों में कोई हस्तक्षेप न किया जाए. साथ ही उन्होंने प्रतिबंध लगाने वाले देशों से परस्पर पर सम्मान की भी बात कही.

और पढ़े -   अमेरिका और ब्रिटेन ने सीरिया में आतंकियों को दिए ज़हरीले बमः रूस

इसके अलावा अमीर ने उन सभी देशों का आभार व्यक्त किया है जो प्रतिबंधों के दौरान क़तर का सहयोग कर रहे हैं. अल थानी ने प्रतिबंधों का मुक़ाबला करने पर अपने देश की जनता की सराहना की. उन्होंने कहा कि देश पर लगे प्रतिबंधों के बावजूद क़तर में आम जनजीवन सामान्य ढंग से चल रहा है.

गौरतलब रहें कि 5 जूलाई को सऊदी अरब, मिस्र, बहरैन और संयुक्त अरब इमारात द्वारा आतंकवाद के समर्थन का आरोप में कूटनैतिक संबन्ध तोड़े जाने के बाद क़तर अमीर का पहली बार बयान सामने आया है.

और पढ़े -   सेबी ने जारी की फर्जी चिटफंड कंपनियों की सूची, भूलकर भी ना करे इनमे निवेश

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE