सऊदी अरब, बाहरेन, मिस्र और संयुक्त अरब अमीरात (UAE) ने कतर को आतंकी प्रायोजित देश करार देते हुए उसके साथ सभी तरह के कूटनीतिक संबंध तोड़ दिए है. ऐसे में अब कत्तर ने अपनी प्रतिक्रिया दी है.

कत्तर विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा कि निराधार आरोप पर संबन्ध तोड़े लेने का कोई औचित्य नहीं है. तसनीम समाचार एजेन्सी के अनुसार क़तर के विदेश मंत्रालय ने घोषणा की है कि कुछ अरब देशों की ओर से क़तर से संबन्ध विच्छेद करने की कार्यवाही का कोई औचित्य दिखाई नहीं देता.

और पढ़े -   यमन युद्ध में मरने वाले 50 प्रतिशत बच्चे सऊदी हमलों में मरे: सयुंक्त राष्ट्र

क़रत के विदेश मंत्रालय के बयान में कहा गया है कि फ़ार्स की खाड़ी की सहयोग परिषद के एक सदस्य देश के विरूद्ध इस प्रकार की कार्यवाही का कोई स्पष्ट तर्क नहीं दिया गया बल्कि निराधार रिपोर्टों के आधार पर एेसा किया गया.

क़तर के अनुसार इस देश को क्षति पहुंचाने के लिए दुष्प्रचार किये गए जिनसे प्रभावित होकर कुछ अरब देशों ने एेसा निर्णय लिया जिसका कोई औचित्य नहीं पेश किया जा सकता.

और पढ़े -   मुस्लिम देशों में एकता वक्त की जरुरत: एर्दोगान

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE