सऊदी अरब, संयुक्त अरब इमारात, बहरैन और मिस्र द्वारा रिश्तें तोड़े जाने के बावजूद भी क़तर शुरूआत से ही नरमी इख्तियार करता आ रहा है, बावजूद इसके सऊदी और उसके सहयोगी देशों के रुख में कोई परिवर्तन नहीं आया है. ऐसे में अब क़तर ने भी पलटवार करना शुरू कर दिया है.

क़तर  ने सऊदी अरब, संयुक्त अरब इमारात, बहरैन और मिस्र   के उत्पादों पर प्रतिबंध लगा दिया है. क़तर वासी उन देशों के उत्पादों को नहीं ख़रीद रहे हैं जिन्होंने उनके देश को अलग-थलग करने का प्रयास किया है. जिन कंपनियों के उत्पाद, क़तरवासी नहीं ख़रीद नहीं रहे हैं उनमें सऊदी अरब और संयुक्त अरब इमारात की कंपनियां विशेष रूप से शामिल हैं.

और पढ़े -   ईरान में नाबालिग के बलात्कारी को मिली दिल दहला देने वाली सज़ा

ऐसे में अब मिल्क प्रोडक्ट की मध्यपूर्व की सबसे बड़ी सऊदी कंपनी “अलमराई” को इस समय समय गंभीर संकट का सामना है क्योंकि उसके 80 प्रतिशत उत्पाद का ख़रीदार क़तर था किंतु क़तर के लोग इस सऊदी कंपनी के उत्पाद ख़रीद नहीं रहे हैं.

हालांकि यह कंपनी अपने ग्राहकों को विशेष छूट की लालच भी दे रही है किंतु क़तरवाले किसी भी स्थिति में सऊदी अरब की कंपनी के उत्पाद ख़रीदना नहीं चाहते.

और पढ़े -   अंतरराष्ट्रीय पत्रकारों की सयुंक्त राष्ट्र से मांग - 'म्यांमार में मुस्लिम होलोकॉस्ट को रोका जाए'

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE