देश की सरकारी न्यूज़ एजेंसी और सोशल मीडिया साइटों को हैक करने में सयुंक्त अरब अमीरात का हाथ सामने आने के बाद क़तर ने यूएई के खिलाफ क़ानूनी कार्रवाई का मन बना लिया है.

क़तर ने कहा कि वाशिंग्टन पोस्ट के खुलासे के अनुसार , यूएई सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों की एक मीटिंग में क़तर की सरकारी न्यूज़ एजेंसी की वेबसाइट को हैक करने की योजना तैयार की गई थी. क़तर के सरकारी दूरसंचार कार्यालय के निदेशक शेख़ सैफ़ बिन अहमद अलसानी ने कहा है कि इस रिपोर्ट से सिद्ध हो गया है कि हैकिंग का यह अपराध अंजाम दिया गया था.

उन्होंने कहा कि यूएई की ये साजिश अंतरराष्ट्रीय क़ानून और खाड़ी सहयोग परिषद के सदस्य देशों के बीच होने वाले समझौतों और सहित इस्लामी सहयोग संगठन एवं संयुक्त राष्ट्र संघ के समझौतों का खुला उल्लंघन है. ऐसे में अब इस आपराधिक क़दम के ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई किए जाने के लिए जांच की प्रक्रिया जारी है. हालांकि यूएई के विदेश मंत्री अनवर गर्गश का कहना है कि यह नई रिपोर्ट सही नहीं है और हैकिंग की घटना में उनके देश की कोई भूमिका नहीं है.

वाशिंगटन पोस्ट ने हाल ही में अपनी रिपोर्ट में कहा कि अमेरिकी खुफिया एजेंसियों ने पिछले हफ्ते नए विश्लेषण की जानकारी हासिल की, जिसमें पता चला है कि संयुक्त अरब अमीरात के वरिष्ठ अधिकारियों ने 23 मई को होने वाले एक दिन पहले योजनाबद्ध हैक्स पर चर्चा की थी.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE