सऊदी अरब सहित यमन, मिस्र, बहरीन और सयुंक्त अरब अमीरात द्वारा लगाए गए क़तर पर प्रतिबन्ध से उपजे विवाद का कोई समाधान नजर नहीं आ रहा है. इसी बीच क़तर ने स्पष्ट कर दिया कि प्रतिबन्ध के हटे बिना वह कोई आधिकारिक वार्ता नही करेगा.

क़तर के विदेश मंत्री मोहम्मद बिन अब्दुल रहमान अलसानी ने सोमवार को कहा, क़तर के ख़िलाफ़ लगाए गए प्रतिबंधो को हटाने के बारे में अभी तक कोई प्रगति नहीं हुई है, हालांकि दोहा और पड़ोसी अरब देशों के मतभेदों को दूर करने के लिए शुरू की जाने वाली बातचीत से पहले इन प्रतिबंधों का हटाया जाना ज़रूरी है.

और पढ़े -   कत्तरी हाजियों का पहला जत्था पहुंचा सऊदी अरब

उन्होंने यह भी कहा कि दोहा के साथ संबंध तोड़ने वाले पड़ोसी अरब देशों ने अभी तक क़तर के सामने आधिकारिक रूप से कोई मांग नहीं रखी है.

क़तर के विदेश मंत्री का कहना था कि इस संकट के जारी रहने की स्थिति में दोहा, तुर्की, कुवैत और ओमान का सहारा लेगा और विमानों की उड़ान के लिए ईरान कॉरिडोर उपलब्ध कराता रहेगा.

और पढ़े -   चीन-भारत तनाव ईरान पहुंचा, चीनी कंपनी ने सभी भारतीय कर्मचारी को नौकरी से निकाला

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE