रूस के राष्ट्रपति विलादीमीर पुतीन ने तेहरान और रियाज़ के मध्य तनाव की ओर संकेत करते हुए सऊदी अरब के वरिष्ठ धर्मगुरु के मृत्युदंड पर खेद प्रकट किया है। क्रिमलिन हाऊस से जारी बयान के अनुसार, राष्ट्रपति विलादीमीर पुीतन ने 5 जनवरी को जर्मन समाचार पत्र बेल्ड से बात करते हुए शियों के वरिष्ठ धर्मगुरू शैख़ बाक़िर निम्र के मृत्यदंड पर खेद प्रकट किया।
nimr-al-nimr_650x400_71451739742उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से इस घटना पर हमें खेद है विशेषकर इस बात के दृष्टिगत कि इस धर्मगुरु ने सऊदी अरब से संघर्ष के लिए सशस्त्र लोगों का प्रयोग नहीं किया था। पुतीन ने इसी प्रकार ईरान और सऊदी अरब के मध्य जारी तनाव पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि यह विषय, सीरिया संकट के समाधान, आतंकवाद से संघर्ष तथा शरणार्थी संकट को प्रभावित कर सकता है। रूसी राष्ट्रपति ने सीरिया संकट के बारे में कहा कि सीरियाई जनता को संकट की समाप्त के लिए देश के नये संविधान के संकलन का काम आरंभ करना चाहिए और यह प्रक्रिया कितनी जटिल है इससे इन्कार नहीं किया जा सकता।

उन्होंने कहा कि ईरान और सऊदी अरब के संबंधों में उत्पन्न होने वाले संकट से सीरिया की आगामी वार्ता और अधिक कठिन हो जाएगी। विलादीमीर पुतीन ने कहा कि यदि सीरियाई जनता देश के संविधान के संशोधन की ओर क़दम बढ़ाएगी तो इस देश की जनता सीरिया के नये संविधान के आधार पर मध्यावधि, राष्ट्रपति और संसदीय चुनाव आयोजित कर सकती है।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें