मॉस्को : रूस के दैनिक समाचार पत्र ‘नोवाया गज़ेटा’ के मुताबिक रूसी राष्ट्रपति के प्रेस प्रवक्ता दमित्री पेसकोव ने सऊदी अरब को जमकर फटकार लगाई है। साप्ताहिक प्रेस कॉन्फ्रेंस में पेसकोव ने सऊदी अरब पर आतंकवाद के बीज बोने के साथ संकटग्रस्त सीरिया में अल कायदा समर्थित गुरिल्लाओं को शह देने का आरोप लगाया है।

पेसकोव ने कहा कि सऊदी नेतृत्व सत्ता से चिपका हुआ है और उम्मीद करता है कि वो पडोसी देशों की स्थिरता और कल्याण को निशाना बनाकर अपने पुरातन, बर्बर और अमानवीय राजनीतिक तंत्र को अपरिहार्य पतन से बचा सकता है। ‘प्रावदा’ ने इस हफ्ते के शुरू में प्रेस कॉन्फ्रेंस में पेसकोव के संबोधन की जानकारी दी।

इससे पहले रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा था कि उनका देश सीरिया में सऊदी अरब के ऐसे किसी भी शरारती दखल पर चुप नहीं रह सकता जो सीरिया में शांतिपूर्ण समझौते की राह में बाधा बने।

पुतिन ने कहा, “रूस सीरिया में सऊदियों को हरा देगा जो वहां सभी दुष्ट षड्यंत्रों की धुरी बने हुए हैं। सीरिया की उन सभी पार्टियों के लिए जो देश के पांच साल के गृहयुद्ध को खत्म कर शांति चाहती हैं, उन के लिए आवश्यक है कि वो वार्ता की मेज पर साथ बैठें और सऊदी अरब की विनाशकारी भूमिका की भर्त्सना करें।”

रूसी राष्ट्रपति ने ये धमकी भी दी कि अगर सऊदी अरब ने मध्य-पूर्व में आतंकवादियों को मदद देना बंद नहीं किया तो रूस बमबारी से उसे पाषाण युग वाली ऐसी ज़िंदगी में पहुंचा देगा, जहां खानाबदोश अरब तम्बुओं में रहा करते थे।

रूसी राष्ट्रपति ने सऊदी अरब किंगडम के खिलाफ सख्त कदमों को न्यायोचित ठहराया। पुतिन के मुताबिक सऊदी समर्थित आईएसआईएस के अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए बड़ी चुनौती बनने का ख़तरा है। रूसी राष्ट्रपति ने ये भी कहा कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को हानिकारक और संदिग्ध अमेरिका-सऊदी गठजोड़ को लेकर किसी भ्रम में नहीं रहना चाहिए। (News24)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें