रोम. कैथोलिक धर्मगुरु पोप फ्रांसिस गुरुवार को इटली के एक माइग्रेंट्स शेल्टर होम में पहुंचे। यहां उन्होंने भाईचारे का मैसेज देने के लिए अनूठी पहल की। पोप ने अलग-अलग धर्माें के रिफ्यूजी लोगों के पैर धोए और उन्हें चूमा। बता दें इन दिनों यूरोपियन और वेस्टर्न कंट्रीज में मुसलमानों और इमिग्रेंट्स के खिलाफ माहौल है।

pope_1458880805

जीसस के काम को फॉलो कर रहे हैं पोप…

ईस्टर वीक के मौके पर रोम के बाहरी हिस्से केस्टलनुओवो दी पोर्तो के शेल्टर होम में पोप ने माइग्रेंट्स से मुलाकात की। यहां जब उन्होंने मुस्लिम, ऑर्थोडॉक्स, हिंदू और कैथोलिक शरणार्थियों के पैर धोए तो कई रोने लगे। कैम्प में पोप के आने पर अलग-अलग लैंग्वेज में ‘वेलकम’ लिखा बैनर लहराया गया था। पोप ने एक-एक के पास जाकर उन्हें विश किया। कई लोगों ने उनके साथ सेल्फी ली।

और पढ़े -   ब्रिटेन: पॉप सिंगर एरियाना ग्रैंड के शो के दौरान भीषण धमाका, 19 हताहत व 50 घायल

वेटिकन के मुताबिक, पोप ने चार महिलाओं और अाठ पुरुषों के पैर धोए।  इसमें एक इटालियन कैथोलिक और तीन इरिट्रियन कॉप्टिक क्रिश्चियन माइग्रेंट महिलाएं थीं।  वहीं, आठ पुरुषों में चार नाइजीरिया के कैथोलिक, माली, सीरिया, पाकिस्तान से तीन मुस्लिम और भारत का एक हिंदू शख्स भी था।

pope-2_1458875589

यह कौन-सा रिचुअल है?

– पोप ने जो किया, वह एक तरह का रिचुअल है।
– बाइबिल के मुताबिक, जीसस ने सूली पर चढ़ने से पहले इसी तरह 12 कैथोलिक पुरुषों के पैर धोए थे। इसे एक तरह की सर्विस कहा जाता है।

और पढ़े -   ईरान के प्रभाव को रोकने के लिए अमेरिका के साथ सऊदी अरब का $ 110bn का हथियार सौदा

क्या कहा पोप ने?

– पोप ने ब्रसेल्स हमले की निंदा करते हुए कहा कि कुछ लोग इस तरह का काम करके हमारे भाईचारे को खत्म करना चाहते हैं।
– “हम लोग अलग धर्माें और कल्चर से ताल्लुक रखते हैं। लेकिन हम सब भाई हैं और शांति से रहना चाहते हैं।”
महिलाओं के पैर धोना वेटिकन के नियमों के खिलाफ

– यह कोई पहला मौका नहीं है, जब फ्रांसिस ने अलग-अलग धर्मों के लोगों के पैर धोए हों।
– 2013 में पोप बनने के कुछ हफ्ते बाद फ्रांसिस ने जुवेनाइल डिटेंशन सेंटर में महिलाओं और मुस्लिमों के पैर धोए थे।
– वेटिकन रूल्स के तहत इसमें सिर्फ पुरुष ही भाग ले सकते थे। इसमें सिर्फ 12 कैथोलिक पुरुषों के पैर धुलाने का नियम है।
– लेकिन फ्रांसिस ने जनवरी में रेग्युलेशन बदलकर इस रिचुअल में महिलाओं और लड़कियों को भी शामिल होने की इजाजत दे दी।

और पढ़े -   UAE: अब शैख़ सऊद ने 363 कैदियों को दी माफी, रमजान की आमद के साथ छोड़ने का दिया आदेश

Pope Francis wash the foot of a refugee at the castelnuovo di porto in italy


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE