दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अंतराष्ट्रीय मीडिया में फजीहत हो रही है. ये फजीहत पीएम मोदी द्वारा सोशल मीडिया पार गालियों देने वालों को फॉलो करने को लेकर हो रही है.

अमेरिका के सबसे प्रतिष्ठित अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स ने आलोचना करते हुए लिखा है, ‘प्रधानमंत्री मोदी का ऐसे लोगों को गुप्त या खुले रूप में निरतंर समर्थन मिलता रहा.’ तो वहीँ न्यूयॉर्क टाइम्स वर्ल्ड ने ट्विटर पर लिखा है, ‘इस ट्वीट के बाद पीएम मोदी को क्या ऐसे लोगों को फॉलो करना चाहिए जिसमें एक पत्रकार की हत्या को कुत्ते की मौत बताया गया हो?’

न्यूयॉर्क टाइम्स खबर में लिखता है, ‘प्रधामंत्री नरेंद्र मोदी जो दुनियाभर में मशहूर हैं, ट्विटर पर ऐसे शख्स को फॉलो करते हैं जो महिला पत्रकार की हत्या को कुत्ते की मौत मरना बताता है.’ ये आपत्तिजनक ट्वीट निखिल दधिची के ट्विटर अकाउंट से किया गया. हालांकि इसे बाद में डिलीट कर दिया गया था. दधिची वहीं हैं जिन्हें पीएम मोदी फॉलो करते हैं, बल्कि घटना के बाद से भी उन्हें फॉलो किया जा रहा है.

इसके अलावा गार्जियन ने लिखा, ‘भारत की सत्तापक्ष पार्टी ने अब तक पीएम मोदी के ट्विटर अकाउंट का समर्थन किया जिसमें वो निखिल दधिची जैसे लोगों को फॉलो करते हैं. मोदी ऐसे लोगों को फॉलो करते हैं जो एक पत्रकार की मौत पर खुशी मनाते हैं. पूरे भारत की विपक्षी पार्टियों ने पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या का विरोध किया लेकिन मोदी के समर्थकों ने हत्या को जस्टीफाई किया. मोदी जिन्हें फॉलो करते हैं वो कहते हैं पत्रकार कुत्ते की मौत मरी.’

लेख में आगे कहा गया कि जबकि पीएम मोदी अपना ट्विटर अकाउंट खुद ऑपरेट करते हैं और ट्विटर पर 1779 लोगों को फॉलो करते हैं. चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने भी आलोचना करते हुए कहा कि उन्होंने अभी तक पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या की निंदा नहीं की।’

गौरतलब रहें कि गोरी लंकेश की हत्या पर ट्रोलर ने केवल गालियाँ दी बल्कि उन्होंने खुशियाँ भी मनाई. इन लोगों को पीएम मोदी ही नहीं बल्कि कई केंद्रीय मंत्री फॉलो करते है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE