लातिन अमरीकी देश वेनेज़ुएला बिजली संकट से घिर गया हैं. बीबीसी की एक रिपोर्ट के अनुसार वेनेज़ुएला सरकार ने सरकारी कर्मचारियों को सिर्फ़ दो दिन काम पर आने के लिए कहा है. इसके पीछे गहराता बिजली संकट हैं. उपराष्ट्रपति अरिस्तोबुलो इस्तुरिज़ ने घोषणा की है कि जब तक बिजली संकट ख़त्म नहीं हो जाता, सरकारी कर्मचारी सिर्फ़ सोमवार और मंगलवार को ही अपने दफ़्तर में काम पर आएं.

और पढ़े -   क़तर के पास हमारी शर्तों को मानने के अलावा कोई रास्ता नहीं - मिस्र

lainfo.es-10218-vicepresidente-arreaza

वेनेज़ुएला इस समय भीषण सूखे की समस्या का सामना कर रहा है, साथ ही उसके मुख्य हाइड्रोइलेक्ट्रिक बांध में जलस्तर बहुत नीचे चला गया है. उपराष्ट्रपति की इस घोषणा से वेनेज़ुएला के बीस लाख कर्मचारी प्रभावित होंगे.

उन्होंने कहा, “सरकारी दफ़्तरों में बुधवार, गुरुवार और शुक्रवार को कोई काम नहीं होगा. इस दौरान सिर्फ़ बुनियादी और ज़रूरी काम होंगे.”

राष्ट्रपति निकोलस मादुरो वेनेज़ुएला के 2.8 कर्मचारियों में से ज़्यादातर को पहले ही अप्रैल और मई में शुक्रवार की छुट्टी दे चुके हैं ताकि बिजली की खपत को कम किया जा सके. वेनेज़ुएला सरकार घरों में पहले ही चार घंटे की कटौती का कर चुकी है.

और पढ़े -   क़तर संकट को हल करने के मकसद से एर्दोगान पहुंचे सऊदी अरब

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE