कराची : पाकिस्तान के पूर्व तानाशाह जनरल परवेज मुशर्रफ को एक आतंकवाद रोधी अदालत ने बलूच राष्ट्रवादी नेता नवाब अकबर खान बुगती की 2006 में हुई हत्या के मामले में मंगलवार को बरी कर दिया। कई चर्चित मामलों में आरोपी पूर्व सैन्य शासक के लिए यह पहली बड़ी राहत है।

परवेज मुशर्रफ को राहत, बुगती हत्याकांड में हुए बरी

पाकिस्तान के संसाधन संपन्न और सबसे बड़े प्रांत के लिए राजनीतिक स्वायत्तता हासिल करने के लिए बुगती ने कबाइली आंदोलन का नेतृत्व किया था। बुगती तत्कालीन राष्ट्रपति और सेना प्रमुख मुशर्रफ के आदेश पर अशांत प्रांत में 2006 में की गई सैन्य कार्रवाई में मारे गए थे।

और पढ़े -   डोनाल्ड ट्रंप को किम जोंग का जवाब - धमकी से नहीं डरने वाले, हमले के लिए है तैयार

खुद पर रॉकेट हमले के बाद दिया था आदेश

दक्षिण पश्चिमी प्रांत के दौरे के समय खुद पर हुए रॉकेट हमले के बाद मुशर्रफ ने 2005 के अंत में बलूचिस्तान में सैन्य कार्रवाई के आदेश दिए थे। मुशर्रफ (72) के खिलाफ पिछले साल जनवरी में इस आधार पर हत्या का आरोप लगाया गया था कि उन्होंने बुगती की हत्या के आदेश दिए थे।

और पढ़े -   स्विट्जरलैंड में भारत को बताया गया भ्रष्ट, ब्लैकमनी का डाटा देने का भी हो रहा विरोध

फैसले से इन्हें मिली राहत

बलूचिस्तान की राजधानी क्वेटा स्थित अदालत ने मुशर्रफ, पूर्व प्रांतीय गृहमंत्री मीर शोएब नौशेरवानी और कौमी वतन पार्टी के प्रमुख नेशनल असेंबली के सदस्य आफताब अहमद खान शेरपाओ को बरी कर दिया। साभार: zeenews


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE