misr

मिस्र के विदेशमंत्री ने इजराइल सेना के हाथों फ़िलिस्तीनी बच्चों की हत्या व जनसंहार को आतंकवाद से जोड़ने से इंकार किया हैं.

विदेश मंत्री सामेह शुकरी ने अपने बयान में कहा कि  जब तक आतंकवाद की अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर परिभाषा नहीं होती, उस वक़्त तक ज़ायोनी सैनिकों के हाथों फ़िलिस्तीनी बच्चों की हत्या व जनसंहार को आतंकवाद नहीं कह सकते.

उन्होंने दावा किया कि मिस्र, फ़िलिस्तीन के विषय को ख़ास अहमियत देता है और फ़िलिस्तीनी व ज़ायोनी दृष्टिकोणों को एक दूसरे के निकट लाने की कोशिश कर रहा है ताकि यह विवाद ख़त्म हो जाए.

मिस्री विदेश मंत्री ने इसी प्रकार अरब देशों के संयुक्त रक्षा बल के गठन के बारे में कहा कि इस योजना का लक्ष्य अतिक्रमणकारी फ़ोर्स का गठन नहीं बल्कि अरब देशों की सुरक्षा का समर्थन करने वाली फ़ोर्स का गठन है.

हालांकि इस बयान पर अब तक मिस्र सरकार की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई हैं. बल्कि छात्रों के साथ उनकी सालाना मुलाक़ात की विज्ञप्ति जारी की.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें