पाकिस्तान सेना द्वारा दो भारतीय जवानों की हत्या और उनके शवों को क्षत-विक्षत करने की घटना से पाकिस्तान ने साफ़ इनकार कर दिया हैं. इसके साथ ही पाकिस्तान ने भारत से इस बारें में सबूत की मांग की हैं.

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने पाकिस्तान सेना के हवाले से बताया, “पाकिस्तानी और भारतीय सैन्य प्रशासन के बीच पिछली रात नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर रावलकोट-पुंछ सेक्टर में हॉटलाइन पर स्थानीय कमांडरों के स्तर की बातचीत हुई.” बातचीत के बारे में जानकारी पाकिस्तानी सेना ने दी है. सेना के इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस की ओर से जारी बयान के मुताबिक, “भारत को बताया गया कि पाकिस्तान की ओर से न ही संघर्षविराम का उल्लंघन किया गया और न ही भारतीय जवानों के शवों को क्षत-विक्षत किया गया.”

और पढ़े -   सऊदी हमले के कारण यमन के करोड़ों लोग साफ पीने के पानी से वंचित

वहीँ भारत के सैन्य अभियान महानिदेशक (डीजीएमओ) लेफ्टिनेंट जनरल एके भट्ट ने अपने पाकिस्तानी समकक्ष से बात कर जम्मू कश्मीर के पुंछ स्थित कृष्णा घाटी में सोमवार को दो भारतीय सैनिकों को मार डालने और उनके सर काट डालने की घटना पर गंभीर चिंता जाहिर की. सेना ने बयान जारी कर कहा, ‘भारतीय सेना के डीजीएमओ ने उन्हें बताया कि इस तरह की कायराना एवं अमानवीय कार्रवाई किसी भी सभ्यता के किसी भी मापदंड से परे है और इसकी कड़े शब्दों में निंदा तथा समुचित जवाब दिया जाना चाहिए.’

और पढ़े -   यमन जा रहा तेजी से मौत के मुंह में, हैजा के अलावा दिमागी बुखार भी फैला

भारतीय सेना ने अपने बयान में कहा, पाकिस्तान ने संघर्षविराम उल्लंघन और भारतीय सैनिकों के शवों को क्षतविक्षत करने के भारत के आरोपों को खारिज कर दिया.’ पाकिस्तान के डीजीएमओ मेजर जनरल साहिर शमशाद मिर्जा ने दावा किया ‘पाकिस्तानी सेना एक पेशेवर सैन्य संगठन है तथा उसका आचरण उच्च मानकोंवाला है. क्षतविक्षत करने का आरोप कश्मीर घाटी में व्याप्त हालात से दुनिया का ध्यान हटाने की भारत की कोशिश है.’ अपनी कार्रवाई से पड़ोसी देश के इंकार का पंजाब के वैनपोइन गांव में खास असर नहीं पड़ा जहां 42 वर्षीय परमजीत सिंह का पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया.

और पढ़े -   डोकलाम विवाद से उपजे तनाव के लिए चीन ने ठहराया पीएम मोदी को जिम्मेदार: चीन

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE