muslim chin

चीन सरकार के ओपचारिक आग्रह पर एक पाकिस्तानी दल चीन के शिन्झियांग प्रान्त में मुस्लिमों के हालात जानने के लिए पहुंचा हैं. रमजान के महीने में श‍िन्झियांग प्रांत में रोजा रखने पर पाबंदी लगा देने के बाद चीन की अंतराष्ट्रीय स्तर पर कड़ी निंदा हुई थी. इस मामले में आतंकी हाफिज सईद ने चीन को आड़े हाथों लेते हुए चीन और पाकिस्तान की बरसो पुरानी दोस्ती पर भी सवाल उठा दिए थे.

चीन के अधिकारियों ने यह अनुरोध इंटरनेशनल न्‍यूज एजेंसी की उस खबर के बाद किया था, जिसमें कहा गया था कि चीन के अधिकारियों ने क्षेत्र में रोजा रखने पर पाबंदी लगा दी है. पाकिस्‍तान के धार्मिक मामलों के मंत्रालय के प्रतिनिधि मंडल में डायरेक्‍टर जनरल फॉर रिसर्च और इस्‍लामाबाद की फैसल मस्जिद के प्रमुख इमाम शामिल हैं, यह दल शिन्झियांग में चार दिनों तक रहेगा और वहां लगाए गए कथित प्रतिबंध के बारे में तथ्‍यों का पता करेगा.

गौरतलब रहें कि रमजान की शुरुआत में शिन्झियांग प्रांत में नौकरशाहों, छात्रों और बच्‍चों पर रोजा रखने के प्रतिबंध की खबर आई थी.हालांकि, चीन की सरकार ने इन रिपोर्ट्स को आधारहीन बताते हुए खारिज करते हुए कहा था कि वे मुस्लिमों को रमजान के दौरान रोजा तोड़ने के लिए बाध्‍य नहीं करते हैं क्‍योंकि संविधान में धार्मिक स्‍वतंत्रता की गारंटी दी गई है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें