pakistani-boy-cuts-off-own-hand-after-blasphemy-mistake-police

लाहौर: पाकिस्तान में 15 साल के एक लड़के ने यह सोचकर अपना ही हाथ काट लिया कि उसने ईशनिंदा की है। यहां हैरान करने वाली बात यह है इस घटना से दुखी होने के बजाये लड़के के माता-पिता और उसके पड़ोसियों ने ऐसा करने पर उसकी तारीफ की।

स्थानीय पुलिस प्रमुख नौशेर अहमद ने बताया कि एक इमाम ने गांव की एक मस्जिद में इकट्ठा हुए लोगों को बताया कि पैगंबर मोहम्मद से प्रेम करने वालों को हमेशा उनकी प्रार्थना करनी चाहिए और फिर पूछा कि भीड़ में से किसने प्रार्थना करना बंद कर दिया है। इमाम का सवाल शायद गलत सुन लेने के कारण 15 साल के मोहम्मद अनवर ने गलती से अपना हाथ उठा दिया।

और पढ़े -   इजराइल के ‘युद्ध अपराधों’के खिलाफ फ़िलिस्तीनियों ने खटखटाया अंतरराष्ट्रीय न्यायालय का दरवाजा

पुलिस प्रमुख ने बताया कि भीड़ ने तुरंत अनवर पर ईशनिंदा का आरोप जड़ दिया। लिहाजा, अनवर अपने घर गया और वह हाथ काट डाला जो उसने मस्जिद में उठाया था। इसके बाद हाथ को एक थाली में रखा और उसे इमाम को पेश कर दिया।

पुलिस के मुताबिक, यह घटना पंजाब प्रांत की राजधानी लाहौर से करीब 125 किलोमीटर दूर हुजरा शाह मुकीम जिले के एक गांव में चार दिन पहले हुई। अहमद ने कहा कि उन्होंने एक वीडियो देखा है जिसमें गांव के लोग सड़क पर अनवर का अभिनंदन कर रहे हैं और उसके माता-पिता गर्व से फूले नहीं समा रहे। उन्होंने कहा कि इस बाबत कोई शिकायत नहीं की गई है। लिहाजा, कोई पुलिस रिपोर्ट दाखिल नहीं की गई है और मामले की कोई जांच नहीं की जा रही।

और पढ़े -   इजरायल द्वारा स्वास्थ्य कानूनों के उल्लंघन पर संयुक्त राष्ट्र को सौंपी रिपोर्ट

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE