भारतीय नौसेना के पूर्व अफसर कुलभूषण जाधव के मामले में पाकिस्तान ने फैसला आने से पहले ही अंतर्राष्ट्रीय कोर्ट के फैसले को मानने से इनकार कर दिया है. पाकिस्तान के अटॉर्नी जनरल ने कहा है कि वे इस मामले में इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस की भी नहीं सुनेंगे.

दरअसल पाकिस्तान के अटॉर्नी जनरल को भारत की ओर से इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस का रुख करने के 2 दिन बाद ही ब्रीफ किया गया था. जिस पर पाक सरकार ने कहा कि पाकिस्तान अपनी राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े किसी भी मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय अदालत के फैसले को स्वीकार नहीं कर सकता.
इस मामलें में पाकिस्तानी समाचार चैनल ‘दुनिया’ की एक रिपोर्ट में कहा गया कि भारतीय जासूस’ कुलभूषण जाधव के कारण पाकिस्तान की स्थिरता को खतरा पैदा हुआ था. इसलिए पाकिस्तान इस मामले में अंतर्राष्ट्रीय अदालत के आदेश को नहीं मानेगा.
वहीँ एक अन्य अखबार ‘डेली पाकिस्तान’ की रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय अदालत के प्रति अपनी प्रतिबद्धताओं को पुनर्परिभाषित किया है. गत 29 मार्च को घोषित नीति में उसने सभी घरेलू और राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित मुद्दों को अंतर्राष्ट्रीय अदालत के न्याय क्षेत्र से बाहर कर लिया है.
और पढ़े -   रोहिंग्या नरसंहार के बीच भारत म्यांमार को सैन्य हथियार देने पर कर रहा विचार

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE