nawaz-earphone

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की मुश्किलें बड़ने वाली हैं. पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने पनामा पेपर्स लीक मामले में नवाज शरीफ के खिलाफ भ्रष्टाचारों के आरोपों की जांच की इजाजत दे दी है.

शीर्ष न्यायालय ने आदेश में कहा कि वह सुप्रीम कोर्ट की अगुवाई वाला एक जांच आयोग गठित करने को तैयार है. इस आयोग को सुप्रीम कोर्ट जैसी शक्तियां प्राप्त होंगी. और यह आयोग सुप्रीम कोर्ट को रिपोर्ट करेगा.

और पढ़े -   फिलिस्तीन का साथ देने पर सऊदी और उसके घटक देश दे रहे क़तर को सज़ा

पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ के अध्यक्ष इमरान खान और अन्य ने पनामा पेपर्स लीक का हवाला देकर नवाज शरीफ के इस्तीफें की मांग कर रखी हैं. विपक्ष का कहना था कि शरीफ और उनके परिवार के खिलाफ विदेशी कंपनियों में निवेश के बारे में जांच की जाए.

इस मुद्दें को लेकर इमरान खान इस्लामाबाद बंद बुला चुके थे. हालांकि अब उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के आदेश को ‘ऐतिहासिक जीत’ बताते हुए इस्लामाबाद बंद का अपना आह्वान वापस ले लिया हैं.

और पढ़े -   रिश्तों को सामान्य करने को लेकर सऊदी अरब ने क़तर को सौंपी 10 मांगो की सूची

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE