पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री और पाकिस्तान पिपल्ज़ पार्टी के वरिष्ठ नेता यूसुफ़ रज़ा गीलानी के बेटे को तालेाबन के विरुद्ध एक आप्रेशन के बाद स्वतंत्र करा लिया गया है. उनके बेटे अली हैदर तीन वर्ष से तालिबान के कब्जे में थे.

अली हैदर गीलानी के आजाद होने की खबर पिपल्ज़ पार्टी के चेयरमैन बिलावल भुट्टू ने ट्वीटर पर दी. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि यूसुफ़ रज़ा गीलानी को अफ़ग़ानिस्तन के राजदूत से टेलीफ़ोन काल प्राप्त हुई जिसमें यूसुफ़ गीलानी को बताया गया कि उनके बेटे को सफल अभियान के बाद तालिबान से स्वतंत्र करा लिया गया है.

यूसुफ़ रज़ा गीलानी को जिस समय बेटे की स्वतंत्रता की सूचना मिली उस समय वह कश्मीर में पिपल्ज़ पार्टी की बैठक में मौजूद थे. बेटे की आजादी पर पिता यूसुफ़ गीलानी ने कहा कि वह बेटे को देखने के लिए बेताब हैं. उन्होंने कहा कि आज की बैठक उनके लिए बहुत महत्वपूर्ण है.

गोरतलब हैं कि हैदर गीलानी का 9 मई 2013 को आम चुनाव के दो दिन पहले मुलतान से अपहरण कर लिया गया था. इस दोरान हुई फ़ायरिंग में अली हैदर गीलानी के सुरक्षा गार्ड मुहिइयुद्दीन सहित दो लोग मारे गये थे.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें