म्यांमार के राखिने में रोहिंग्या मुस्लिमों पर हो रही हिंसा पर कड़ा रुख इख्तियार करते हुए पाकिस्तान ने म्यांमार के राजदूत को तलब कर तत्काल हिंसा रोके जाने की चेतावनी दी है.

पाक विदेश विदेश सचिव ने म्यांमार के राजदूत से रोहिंग्या मुसलमानों के विरुद्ध जारी अत्याचार को समाप्त करने के बारे में उचित कार्यवाही की मांग की.

बयान के अनुसार विदेश सचिव ने म्यांमार के राजदूत से राख़ीन प्रांत में रोहिंग्या मुसलमानों को सुरक्षा उपलब्ध कराना, अधिकारों की रक्षा और बिना भेदभाव और बिना किसी भय के स्थानांतरण की अनुमति देने की भी मांग की.

और पढ़े -   शेख सुल्तान बिन सुहिम अल-थानी ने क़तर संकट को खत्म करने के लिए बुलाई बैठक

पाकिस्तान के विदेशमंत्रालय ने म्यांमार के राजदूत से मांग की है कि रोहिंग्या मुसलमानों के विरुद्ध जारी अत्याचार की जांच कराई जाए और उनकी हत्या में लिप्त लोगों को सज़ाएं दी जाए.

इसके अलावा राख़ीन प्रांत में जारी विवाद के स्थाई हल के लिए संयुक्त राष्ट्र संघ के पूर्व महासचिव कूफ़ी अन्नान के कमीशन की सिफ़ारिशों पर तुरंत अमल की मांग की गयी.

और पढ़े -   अमेरिकी राष्ट्रपति ने सयुंक्त राष्ट्र से रोहिंग्या के लिए 'मजबूत और तेज' कार्रवाई का आग्रह किया

ज्ञात रहे कि इस कमीशन की सिफ़ारिशों में म्यांमार के राख़ीन प्रांत में मतभेद समाप्त करने के लिए त्वरित कार्यवाही, शांति बहाल रखने, निष्पक्ष रूप से प्रभावित लोगों तक पहुंच और नागरिकता के मुद्दे को हल करने पर आधारित सुझाव भी शामिल हैं.

म्यांमार के राजदूत ने पाक विदेश सचिव को विश्वास दिलाया कि वह म्यांमार की सरकार तक पाकिस्तानी सरकार और जनता की चिंताओं को पहुंचाएंगे.

और पढ़े -   रोहिंग्या संकट को लेकर म्यांमार में भेजी जा सकती है सेना, ईरान और पाक सैन्य प्रमुख में हुई बातचीत

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE