क़तर को लेकर सऊदी अरब का रुख सख्त होता जा रहा है, ऐसे में इस संकट के खत्म होने की उम्मीद नजर नहीं आ रही हैं.

सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी करके क़तर द्वारा आतंकवाद के समर्थन की निंदा की है। इस बयान के अनुसार क़तर अब अपनी नीतियों को आगे नहीं बढ़ा सकता क्योंकि हमारे धैर्य की सीमा समाप्त होती जा रही है।

और पढ़े -   चीन ने भारत के लिए बना सिरदर्द - अब चीनी सेना बना रही लद्दाख में पुल

बयान के अनुसार क़तर ने आतंकवाद और अतिवाद का समर्थन करके सऊदी अरब और क्षेत्र की सुरक्षा को ख़तरे में डाल दिया है।

सऊदी अरब का कहना है कि क़तर ने अभी तक अपने वचनों का पालन नहीं किया है और वह आतंकवाद का समर्थन तथा दूसरे देशों के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप जारी रखे हुए है।

ज्ञात रहे कि सऊदी अरब, संयुक्त अरब इमारात,बहरैन और मिस्र ने क़तर पर आतंकवाद के समर्थन का आरोप लगाते हुए उससे अपने संबन्ध तोड़ लिए हैं और इन देशों ने क़तर के सामने अपनी 13 शर्तों की सूचि रखी है।

और पढ़े -   मिस्र ने हाजियों के लिए गाजा क्रासिंग को खोला

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE