बांग्लादेश सरकार के अधिकारियों के साथ म्यांमार के पश्चिमी राज्य राखिने में रोहिंग्याओं के उत्पीड़न के बारे में चर्चा के लिए इंडोनेशिया के विदेश मंत्री रेटनो मार्सुडी मंगलवार को ढाका आएँगी.

ढाका में राजनयिक सूत्रों ने कहा कि वह बांग्लादेश के सीमावर्ती इलाकों की यात्रा करने की उम्मीद है, जहां 25 अगस्त से हुए हिंसा से बचने के लिए हजारों रोहंगिया आबादी फंसे हुए हैं.

और पढ़े -   ट्रम्प ने दिया क़तर अमीर को भरोसा, सऊदी अरब नहीं करेगा कोई सैन्य कार्रवाई

मार्सुडी के प्रधान मंत्री शेख हसीना से फोन पर बातचीत करने और उसके समकक्ष एएच महमूद अली और अन्य उच्च अधिकारियों से इस मामले पर चर्चा करने की उम्मीद है.

25 अगस्त को राखिने राज्य में पुलिस और सेना के ठिकानों पर हमले किए जाने के बाद, संयुक्त राष्ट्र के आकलन के मुताबिक, 40,000 रोहिंग्या लोगों – ज्यादातर महिलाएं और बच्चों – ने बांग्लादेश में शरण ली है.

और पढ़े -   बौद्ध आतंकियों के हमले में रोहिंग्याओं के लिए सहायता ले जा रहे 9 राहतकर्मियों की मौत

म्यांमार के सैनिकों और रोहिंग्या उग्रवादियों के बीच लड़ाई में करीब 400 लोग भी मर चुके हैं. दोनों देशों की सीमाओं के बीच लगभग 20,000 से अधिक लोग फंसे हुए हैं.

पिछले साल दिसंबर में इंडोनेशिया के मंत्री ने भी कोंक्स बाजार में रोहिंग्या शिविरों का दौरा किया था और बांग्लादेश के अधिकारियों से चर्चा की थी कि वह रोहंगिया संकट के स्थायी समाधान का समाधान कर सके.

और पढ़े -   अमेरिका ने जारी हिंसा के बीच दी रोहिंग्‍या मुस्लिमों के लिए 3.2 अरब डॉलर की मदद

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE