oic

इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) सदस्य देशों के विदेश मंत्रियों की 43वीं बैठक उजबेकिस्तान की अध्यक्षता में ताशकंद में होने जा रही हैं. ऐसे में इस बैठक में कश्मीर का मुद्दा छाया रहेगा.

18 अक्टूबर को शुरू हो रही इस बैठक में ओआईसी सेक्रटरी जनरल इयाद अमीन मदनी सहित 26 देशों के विदेश मंत्री, अमेरिका, ब्रिटेन, इटली और स्विटजरलैंड में मौजूद ओआईसी के विशेष दूत के के अलावा संयुक्त राष्ट्र, अरब लीग आदि के प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे. ऐसे में पाकिस्तान पूरी कोशिश के साथ बैठक में कश्मीर का मुद्दा उठाएगा.

और पढ़े -   न्यूयॉर्क टाइम्स ने पीएम मोदी को साम्प्रदायिकता फैलाने के लिए जिम्मेदार ठहराया

लेकिन भारत को उम्मीद हैं कि दुनिया की सबसे मुस्लिम आबादी वाला देश इंडोनेशिया भारत की निंदा वाले प्रस्ताव पर आपत्ति लगा सकता हैं और कश्मीर मसले पर नरम रवैये के लिए ओआईसी को प्रेरित करने की कोशिश करेगा. इंडोनेशिया के अलावा मलेशिया भी भारत की मदद कर सकता हैं.

हालांकि कश्मीर मसलें पर पाकिस्तान को OIC सचिव जनरल इयाद अमीन मदनी का समर्थन पहले ही हासिल हैं. इस्लामाबाद यात्रा पर आयें मदनी कश्मीर मुद्दें को अंतराष्ट्रीय बताते हुए पाकिस्तान को समर्थन दे चुके हैं.

और पढ़े -   सीरियाई शरणार्थी परिवार ने कनाडाई पीएम पर रखा बेटे का नाम, जस्टिन ट्रूडो ने मुलाकात कर कहा शुक्रिया

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE