file-25-King Salman - GCC 9 dec 2015 Crown prince and Dupty CP

सउदी अरब सरकार ने इस्लामिक साल की शुरुआत के साथ सदियों पुरानी परपरा तोड़ते हुए इस्लामिक कैलेंडर यानि हिजरी कैलेंडर को छोड़ अंग्रेजी कैलेंडर को अपना लिया हैं.

सरकार में ये फैसला कर्माचारियों को हिजरी कैलेंडर की बजाय ग्रेगोरियन कैलेंडर के हिसाब से सैलेरी देने के लिए किया हैं. ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि सरकार अपने खर्च कम करना चाहती है.

दरअसल हिजरी कैलेंडर चांद के हिसाब से दिन तय करता है जिससे ग्रेगोरियन कैलेंडर की तुलना में साल के दिन कम हो जाते हैं. ऐसे में सउदी अरब के कर्मचारियों को ज्यादा छुट्टी मिलती हैं।

और पढ़े -   फिलिस्तीन का साथ देने पर सऊदी और उसके घटक देश दे रहे क़तर को सज़ा

इसी बात को ध्यान में रखते हुए सऊदी हुकूमत ने ये फैसला किया ताकि सरकारी खजाने पर खर्च को कम किया जा सकें.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE