trump defeated

ट्रंप ने एक बार फिर मुस्लिमों के खिलाफ विवादित बयान दिया है। रविवार को उन्होंने दावा किया कि एक चौथाई से ज्यादा मुसलमान चरमपंथी हैं। ट्रंप के इस बयान के बाद एक बार फिर से अमेरिका राजनीतिक माहौल गरमा गया है।

फॉक्स न्यूज संडे से बातचीत में ट्रंप ने कहा कि चरमपंथी मुस्लिमों की तादाद 27 फीसदी है, जो 35 फीसदी तक हो सकती है। एक सर्वे के हवाले से उन्हें बताया गया था कि 1.6 अरब मुसलमानों में से एक लाख से कम लोग ही जिहाद के लिए लड़ रहे हैं। इस आंकड़े को उन्होंने महज एक मजाक बताया।

और पढ़े -   व्हाइट हाउस में भी शुरू हुआ ट्रम्प का विरोध, प्रेस सचिव शॉन स्पाइसर का इस्तीफा

गौरतलब है कि इससे पहले ट्रंप मुसलमानों के अमेरिका में प्रवेश पर पाबंदी की बात कहकर सुर्खियां बटोर चुके हैं। उनके इस नए बयान के बाद मुसलमानों के प्रति उनकी कट्टर सोच साफ जाहिर होती है।

गौरतलब है कि ट्रंप अमेरिकी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार पद के दावेदारों की दौड़ में शामिल हैं और इसलिए वह पूरे देश में चुनाव प्रचार कर रहे हैं। ट्रंप अपने भड़काऊ भाषणों के लिए जाने जाते हैं।

और पढ़े -   हज और उमरा के लिए कतर के नागरिकों पर नहीं कोई रोक: सऊदी हज मिनिस्ट्री

ट्रंप ने हाल में कहा था कि अमेरिका में मुस्लिमों के प्रवेश पर रोक लगा देना चाहिए जिससे कि वह देश में प्रवेश न कर सकें। इसके अलावा उन्होंने बढ़ते माइग्रेशन को रोकने के लिए अमेरिका और मेक्सिको के बीच दीवार खड़ी करने की बात भी कही थी।

इस दौड़ में अमेरिका के भूतपूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन की पत्नी हिलेरी क्लिंटन भी शामिल हैं जो ट्रंप को कड़ी टक्कर दे रही हैं। ट्रंप जहां भड़काऊ भाषणों के लिए जाने जाते हैं वहीं क्लिंटन के विचार उनसे बिल्कुल विपरित हैं।

और पढ़े -   न्यूयॉर्क टाइम्स ने पीएम मोदी को साम्प्रदायिकता फैलाने के लिए जिम्मेदार ठहराया

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE