king salman and obama

वाशिंगटन: अमेरिका और सऊदी अरब के संबंधों में खटास बढती जा रही है अभी हाल ही में एक रिपोर्ट सार्वजानिक की गयी थी जिसमे वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हुए हमले में सऊदी नागरिको की संलिप्ता प्रकाश में आई थी. इस रिपोर्ट को आधार बनाकर अमेरिकी सरकार सऊदी के खिलाफ मुकदमा चलाना चाहती है लेकिन सऊदी अरब की धमकी को मद्देनज़र रखते हुए अमेरिका सरकार कदम फूक फूक कर रख रही है

गौरतलब है की सऊदी अरब ने धमकी दी थी की अगर उनपर मुकदमा चलाया जाता है तो वह सारे अमेरिकी एसेट्स बेच देगा जिससे अमेरिकी अर्थव्यवस्था चरमरा जाएगी

प्रेस टीवी न्यूज़ के मुताबिक अमेरिका ने सऊदी नागरिको के खिलाफ मुकदमा चलाने की अनुमति देने संबंधी एक विधेयक के मामले में VETO इस्तेमाल करने की धमकी दी है ओबामा सरकार के प्रेस सचिव जोश अर्नेस्ट ने अपने संवाददाता सम्मेलन में कल कहा, इस परिदृश्य की कल्पना करना मुश्किल है जिसमें राष्ट्रपति मौजूदा तैयार विधेयक पर हस्ताक्षर करेंगे। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति बराक ओबामा का मानना है कि खासकर हिंसक आतंकवाद और आतंकवादी संगठनों के खिलाफ लड़ाई में अपने हितों को आगे बढ़ाने का सबसे प्रभावशाली तरीका उन स्थानों पर अमेरिकी सेना का इस्तेमाल करना है जहां अमेरिकी लोगों की रक्षा के लिए ऐसा करना आवश्यक है लेकिन इसके साथ ही हमारे साझे हित को आगे बढ़ाने के लिए विश्व के अन्य देशों के साथ सहयोगात्मक तरीके से काम करना है।

जब उनसे धमकी के बाबत सवाल किया गया तो उनका कहना था की “मैं भरोसे के साथ कह रहा हूं कि सउदी लोग अंतरराष्ट्रीय वित्तीय प्रणाली की स्थिरता की रक्षा में अमेरिका एवं सउदी अरब के साझे हितों को समझते हैं।”


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें