उत्तर कोरिया ने जापान को चेतावनी देते हुए कहा कि अमेरिका के साथ अगर जंग छिड़ती है तो सबसे ज्यादा नुकसान जापान का ही होगा.

उत्तर कोरिया के सरकारी अख़बार रोदोंग सिनमन ने बुधवार को लिखा, “अगर प्रायद्वीप में परमाणु जंग हुई तो अमरीकी फ़ोर्सेज़ की आक्रमक, लॉन्चिंग और सैन्य संचालन छावनियों को जगह देने वाला जापान सबसे पहले परमाणु विकिरण की ज़द पर होगा.”

और पढ़े -   नेतन्याहू के साथ अल-सिसी की बैठक, मिस्री राष्ट्रपति बोले - फिलिस्तीनी इजरायलियों के साथ मिलकर रहे

अख़बार ने लिखा, “अगर जापान सच में अपने हितों के लिए चिंतित है” तो उसे तनाव के शांतिपूर्ण निवारण की कोशिश करनी चाहिए. दुनिया में पहली परमाणु बमबारी की तबाही झेलने वाला जापान दूसरो की तुलना में यह बात अच्छी तरह समझता है कि परमाणु तबाही कितनी भयानक होती है.”

इस अख़बार ने यह भी लिखा कि जापान क्षेत्रीय तनाव को अपने संविधान में सुधार करने के लिए बहाने के तौर पर इस्तेमाल कर रहा है ताकि समुद्र पार सैन्य कार्यवाही का रास्ता साफ़ करे. जापान के प्रधान मंत्री शिन्ज़ो अबे ने अभी हाल में देश के संविधान में संशोधन का एलान किया है कि जिसे 2020 तक लागू करने की योजना है.

और पढ़े -   रोहिंग्याओं के नरसंहार को रोकना है तो म्यांमार पर लगे कड़े प्रतिबंध: ह्यूमन राइट्स वॉच

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE