जहाँ पिछले कुछ सप्ताह से निरंतर अमेरिका और नार्थ कोरिया में बीच में तनातनी का माहौल है वहीँ नार्थ कोरिया ने एक ऐसी हरकत कर डाली जिससे अब वो जंग के बेहद करीब पहुँच चूका है, लगातार तीसरे हफ्ते भी मिसाइल टेस्ट किया गया लेकिन इस बार ना सिर्फ परिक्षण किया बल्कि उसकी दिशा भी जापान की तरफ थी.

उत्तर कोरिया इस साल 12 बार मिसाइल परीक्षण कर चुका है. माना जा रहा है कि परीक्षणों का ये सिलसिला महाद्वीपों को लांघकर मार कर सकने वाली मिसाइल तकनीक हासिल करने की उत्तर कोरिया की मुहिम का हिस्सा है.

जापान की बढ़ी चिंता
इस मिसाइल परिक्षण से जापान की चिंताएं बढ़ी नज़र आ रही है. जापान का कहना है की ये मिसाइल जापान सागर में उसके तट से 200 नॉटिकल मील की दूरी पर जाकर गिरी है.इस मिसाइल परिक्षण से नार्थ कोरिया की मंशा साफ़ हो गयी है, इसने 6 मिनट में करीब 450 किलोमीटर का सफर तय किया. इस साल ये दूसरा मौका है जब उत्तर कोरिया की ये मिसाइल जापानी सीमा के नजदीक गिरी है.

दक्षिण कोरिया ने की निंदा
उत्तर कोरिया के धुर-विरोधी दक्षिण कोरिया ने मिसाइल परीक्षण की निंदा की है. सिओल ने इसे ‘गंभीर चेतावनी’ करार दिया. दक्षिण कोरिया में हाल ही में उदारवादी विचारधारा के मून जे इन प्रधानमंत्री बने हैं. मिसाइल टेस्ट के बाद जारी बयान में दक्षिण कोरिया के विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘नए नेतृत्व के चुनाव के बाद ये टेस्ट शांति बहाली की हमारी कोशिशों के लिए सीधी चुनौती है.’


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE