32-Netanyahu-AP

अफ़्रीक़ी संघ में इजराइल की सदस्यता को लेकर प्रधानमंत्री बेनयामिन नेतनयाहू के आग्रह को रद्द कर दिया है. 

संघ में सूडान के प्रतिनिधि उसमान नाफ़े ने शनिवार को बताया कि इस संघ के अधिकारियों ने अफ़्रीक़ी संघ के घोषणापत्र के आधार पर, जिसमें इस्राईल को एक अतिग्रहणकारी और जातिवादी सरकार माना गया है. साथ ही इजराइल शासन के अधिकारियों का किसी भी प्रकार का स्वागत अफ़्रीक़ी संघ के सिद्धांतों और घोषणापत्र के विरुद्ध है.

और पढ़े -   अमेरिकी राष्ट्रपति ने सयुंक्त राष्ट्र से रोहिंग्या के लिए 'मजबूत और तेज' कार्रवाई का आग्रह किया

उन्होंने कहा कि अफ़्रीक़ी संघ इजराइल द्वारा फ़िलिस्तीनियों की जमीन पर अवैध क़ब्ज़े, फ़िलिस्तीनियों के दमन, उनकी गिरफ़्तारियों और फ़िलिस्तीनी जनता को बांटने के लिए बनाई जाने वाली दीवार की कड़ी निंदा करता है.

नाफ़े ने कहा कि यूगांडा, कीनिया, रुवांडा और ईथोपिया जैसे पूर्वी अफ़्रीक़ा के देशों की नेतनयाहू की यात्रा, एक राजनैतिक ड्रामा है और अफ़्रीक़ी संघ अपनी अगली बैठक में इस्राईल से मांग करेगा कि वह 1967 की सीमाओं तक पीछे हट जाए और यह संघ हमेशा फ़िलिस्तीनियों का समर्थन करता रहेगा.

और पढ़े -   रोहिंग्या नरसंहार के चलते ब्रिटेन ने म्यांमार सेना को दी जाने वाली मदद पर लगाई रोक

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE