nai

नाइजेरिया में वरिष्ठ धर्मगुरू शैख़ ज़कज़की की रिहाई की मांग के बाद नाइजेरियाई सेना द्वारा मुसलमानों को निशाना बनाया जा रहा हैं.

इस्लामी आंदोलन नामक संगठन के प्रवक्ता ने इस बारें में कहा है कि सेना मुसलमानों के साथ बड़ा हिंसक बर्ताव कर रही है जिसे कदापि स्वीकार नहीं किया जा सकता. प्रवक्ता ने कहा कि सेना को चाहिए कि देश के मुसलमानों के विरुद्ध हिंसक रवैया तत्काल बंद करे और शैख़ ज़कज़की को तत्काल रिहा किया जाए.

और पढ़े -   रिश्तों को सामान्य करने को लेकर सऊदी अरब ने क़तर को सौंपी 10 मांगो की सूची

दरअसल नाइजेरिया सेना ने पिछले साल शीया नेता शैख़ ज़कज़की के आवास पर हमला कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया था. शैख़ ज़कज़की  स्थानीय शीयों के साथ ही सुन्नी समुदाय व ईसाइयों के बीच भी बड़ी लोकप्रियता रखते थे. जिसके कारण उनकी रिहाई की मांग प्रबल हो गई.

शैख़ ज़कज़की इस समय जेल में हैं और उनकी शरीरिक हालत बहुत ख़राब बताई जा रही है. ऐसे में  देश के मुसलमान चाहते हैं कि मुहर्रम से पहले शैख़ ज़कज़की को रिहा किया जाए और लोग इसी मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे है. लेकिन सेना ने प्रदर्शनकारियों के हमले से देश में जनाक्रोश बढ़ गया है.

और पढ़े -   फिलिस्तीन का साथ देने पर सऊदी और उसके घटक देश दे रहे क़तर को सज़ा

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE