musharaf

पाकिस्तान की एक कोर्ट ने मंगलवार को राजद्रोह के मामले में पेश नहीं होने पर पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के सभी बैंक खातों और संपत्तियों को जब्त करने का आदेश दिया है. पेशावर उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश मजहर आलम मियांखेल की अध्यक्षता वाली विशेष अदालत की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने अपने आदेश में मुशर्रफ के सभी बैंक खातों को फ्रीज करने और राजस्व विभाग को संपत्ति जब्त करने का आदेश दिया है.

मुशर्रफ के वकील फैसल चौधरी ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति ने अपनी सभी संपत्ति अपनी पत्नी और बेटी को तोहफे में दे दी है और तोहफे में दी गई संपत्ति जब्त नहीं की जा सकती. वे फैसले को सर्वोच्च न्यायालय में चुनौती देंगे.अदालत ने मामले की सुनवाई तब तक के लिए स्थगित कर दी है जब तक वह आत्मसमर्पण नहीं करते या उन्हें गिरफ्तार नहीं कर लिया जाता.

वहीं अभियोजन पक्ष के वकील अकरम शेख ने कोर्ट को सुझाव दिया कि वो मुशर्रफ का बयान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से दर्ज कर लें. अकरम शेख ने कोर्ट से कहा कि मुशर्रफ न तो अस्पताल में भर्ती हैं और न ही उन्हें कोई स्वास्थ्य संबंधी समस्या है, इसके बावजूद वतन वापसी नहीं कर रहे हैं.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें