sto

म्यांमार में रोहिंग्या मुसलामनों के खिलाफ म्यांमार आर्मी का जुल्म लगातार जारी हैं. हाल ही में हिंसा के दौरान 70 से अधिक मुसलमान मारे गये हैं. इसके अलावा 17 सैनिकों के मारे जाने की भी खबर हैं.

राष्ट्रीय अरैकन रोहिंग्या  संगठन के अनुसार, पिछले पांच दिनों में म्यांमार के पश्चिम में स्थित राखीन प्रांत में सेना के हाथों कम से कम 150 मुसलमान मारे गये. संगठन के वरिष्ट पदाधिकारी कोकोलिन के अनुसार, म्यांमार की सरकार राखीन प्रांत में प्रत्रकारों और इसी प्रकार राहत पहुंचने वाले गुटों के प्रवेश को रोक कर मुसलमानों की हत्या को छिपाना चाहती है.

गौरतलब रहें कि म्यांमार के राखीन प्रांत में रोहिंग्या मुसलमानों के विरुद्ध हिंसा का नया दौर पिछले नौ अक्तूबर से सीमावर्ती चौकियों पर सशस्त्र व्यक्तियों के हमलों के बहाने सेना द्वारा शुरू हुआ है जो अब भी जारी है. म्यांमार की सेना द्वारा राखीन प्रांत में बड़े पैमाने पर मुसलमानों की हत्या के कारण सैकड़ों मुसलमानों को बांग्लादेश जाने के कारण मजबूर होना पड़ा है.

इसके अलावा म्यांमार सरकार ने हिंसा ग्रस्त क्षेत्रों में अन्तराष्ट्रीय पत्रकारों के जाने पर भी रोक लगा रखी हैं. इसे स्पष्ट हैं कि म्यांमार सरकार अंतराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन करते हुए मुसलमानों के खिलाफ हिंसा में शामिल हैं.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें