kohram-news-hindi
जान बचाकर अपना घरबार छोड़कर भागने वाले रोहिंग्या मुसलमानों को देश में वापस लौटने से रोकने के लिए म्यांमार पिछले तीन दिन से बांग्लादेश से लगी अपनी सीमा पर बारूदी सुरंगे बिछा रहा है।

बुधवार को बांग्लादेश ने अपनी सीमा के निकट बारूंदी सुरंगों के बिछाए जाने पर आधिकारिक रूप से आपत्ति जताई है।

रखाईन प्रांत में रोहिंग्या मुसलमानों पर म्यांमार की सेना के ताज़ा हमलों में बच्चों और महिलाओं समेत 400 से भी अधिक लोग मारे जा चुके हैं और क़रीब 1 लाख 25 हज़ार लोगों ने अपना घरबार छोड़कर पड़ोसी देश बांग्लादेश में शरण ली है।

रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक़, म्यांमार की सेना सीमा पर कांटेदार तारों की बाड़ के साथ-साथ बारूदी सुरंगें बिछा रही है।

हालांकि रखाइन प्रांत में सीमा मामलों के मंत्री ने म्यांमार सेना की ओर से ऐसा कोई भी क़दम उठाए जाने का खंडन किया है।

बांग्लादेश सीमा सुरक्षा के एक अधिकारी मंज़ूरुल हसन ख़ान ने इससे पहले कहा था कि मंगलवार को बांग्लादेश-म्यांमार सीमा पर दो धमाकों की आवाज़ सुनी गई।

सोमवार को भी इसी तरह के दो धमाकों के बाद, यह संदेह हुआ था कि म्यांमार के सैनिकों ने सीमा पर बारूदी सुरंगे बिछा दी हैं।


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE