म्यांमार की सरकार रोहिंग्या मुस्लिमों पर न केवल अत्याचार कर रही है बल्कि उसने उनको मिलने वाली मानवीय मदद पर भी रोक लगा दी है. जिसमे सयुंक्त राष्ट्र की और से दी जाने वाली सहायता भी शामिल है.

गार्जियन की रिपोर्ट के अनुसार म्यांमार ने संयुक्त राष्ट्र की सभी एजेंसियों द्वारा आम लोगों को दी जा रही जरूरी भोजन, पानी व दवाओं की आपूर्ति को रोक दिया है. म्यांमार में यूएन रेजिडेंट कोआर्डिनेटर के कार्यालय ने भी इस की पुष्टि की है.

और पढ़े -   व्हाट्सअप पर इस्लाम के लिए अपमानजनक सन्देश भेजने वाले को मिला मृत्युदंड

यूएन रेजिडेंट कोआर्डिनेटर की और से जारी बयान में कहा गया कि सुरक्षा हालात व सरकार द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों के चलते आपूर्ति को रोक दिया गया है. जिसकी वजह से हम सहायता वितरण में असमर्थ है. अधिकारी काम करने की अनुमति नहीं दे रहे हैं.

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, घातक हिंसा में बहुत से रोहिंग्या मुस्लिम अल्पसंख्यक गोलियों से घायल हुए हैं. संयुक्त राष्ट्र म्यांमार के अधिकारियों से नजदीकी संपर्क बनाए हुए है, ताकि मानवीय सहायता जितनी जल्दी संभव हो सके.

और पढ़े -   किम जोंग का ट्रम्प को जवाब - ताकत में अब दोनों बराबर, आँखे दिखाने की जरुरत नहीं

सयुंक्त राष्ट्र के अलावा भी तुर्की, इंडोनेशिया, मलेशिया सहित कई इस्लामिक मुल्क भी रोहिंग्या मुस्लिमों को मानवीय सहायता भेज रहे है. लेकिन उनकी सहायता पर भी रोक लगा दी गई है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE