दुनिया भर में धार्मिक असहिष्णुता का माहौल है. ऐसे में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने लोगों से सहिष्णुता, संयम और दूसरों के प्रति सम्मान बरतने की अपील की है.

उन्होंने बताया कि उन्हें उनके सौतेले मुस्लिम पिता ने सभी धर्मों का सम्मान करना सिखाया है. उन्होंने कहा कि जब वे 6 साल के थे, तब उनका परिवार जकार्ता में आया था. उन्होंने यहाँ चार साल बिताये थे.

और पढ़े -   कुर्दिस्तान के रूप में दूसरा इजरायल बनाने की साजिश, समर्थकों ने लहराए इजरायली झंडे

ओबामा ने कहा कि मेरे पिता मुस्लिम धर्म को मान्तेब थे. लेकिन वे हिंदुओं, बौद्धों और ईसाईयों का भी उतना ही सम्मान करते थे जितना इस्लाम धर्म का.

उन्होंने कहा कि आज कुछ देशों ने “आक्रामक राष्ट्रवाद” अपना लिया है जिसकी वजह से अल्पसंख्यकों को निशाना बनाया जा रहा है. उन्होंने आगाह किया कि सांप्रदायिक राजनीति कर रही सरकार अराजकता और हिंसा को जन्म दे सकती है.

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिमों की मदद के लिए आगे आया सऊदी, शाह सलमान ने दी 15 मिलियन डॉलर की मदद

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE