पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और और सेना प्रमुख के बीच टकराव बढ़ता जा रहा है। नवाज शरीफ ने सेना के दखल को चुनौती देते हुए टीवी संबोधन में कहा कि वह सिर्फ अल्लाह के सामने सिर झुकाते हैं। टीवी संबोधन में शरीफ ने कहा, ‘मेरी जवाबदेही सिर्फ अल्लाह और आवाम के प्रति बनती है।’ उन्होंने यह भी कहा कि पनामा पेपर्स लीक में अपने और परिवार के सदस्यों के नाम आने की अफवाह से मैं आहत हूं। इस मामले में किसी भी जांच के लिए पूरी तरह से तैयार हूं।

nawaz-sharif_650x400_61445612666

जनरल राहील शरीफ ने अधिकारियों को बर्खास्त करने के बाद कहा था, ‘आतंक के खिलाफ जारी हमारी जंग भ्रष्टाचार के रहते कभी जीती नहीं जा सकती है। इसलिए भ्रष्टाचार को जड़ से मिटाने के खातिर हम सबको अपनी जवाबदेही तय करनी ही होगी।’ जनरल शरीफ का यह निशाना सीधे तौर पर प्रधानमंत्री के लिए था। इसके बाद अपने टीवी संबोधन में नवाज शरीफ ने स्पष्ट किया कि धमकियों से वह डरने वाले नहीं हैं।

उन्होंने खुद पर और अपने परिवार पर आरोप लगाने वालों को चुनौती देते हुए कहा ‘अगर आरोपों में थोड़ी भी सच्चाई निकली तो मैं तत्काल अपने पद से इस्तीफा दे दूंगा। मैं खुद मुख्य न्यायधीश को पत्र लिखकर एक कमिशन बनाने की गुजारिश करूंगा। कमिशन मुझ पर लगे आरोपों की निष्पक्ष जांच करने के लिए स्वतंत्र होगा। अगर मुझ पर लगाए गए आरोप गलत साबित हुए तो क्या आज जो लोग मुझे और मेरे परिवार को बुरा-भला कह रहे हैं, वो मुल्क से माफी मांगेंगे?

शरीफ का टीवी संबोधन भी चुनाव आयोग द्वारा उनके संपत्ति का ब्योरा जारी करने के एक दिन बाद ही आया है। इस ब्योरे के मुताबिक शरीफ पाकिस्तान के सबसे दौलतमंद नेताओं में से एक हैं।’


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें