tur

सोमवार को इस्तांबूल में एक भाषण के दौरान तुर्क राष्ट्रपति अर्दोगान ने कहा, मुस्लिम परिवारों को परिवार नियोजन में शामिल होने की ज़रूरत नहीं है और उन्हें ज़्यादा से ज़्यादा बच्चे पैदा करने की ज़रूरत है। उन्होंने आगे कहा कि, मैं यह स्पष्ट रूप से कह रहा हूं, हमें अपने वारिसों की संख्या बढ़ाने की ज़रूरत है, और इसके लिए सबसे पहली ज़िम्मेदारी माताओं की बनती है।

और पढ़े -   बगदादी ने जिस मस्जिद से किया था खिलाफत का ऐलान, आईएस ने गिराई 800 साल पुरानी वह ऐतिहासिक मस्जिद

तुर्क राष्ट्रपति का कहना था कि लोग परिवार नियोजन के बारे में बात करते हैं। कोई भी मुस्लिम परिवार न ही इसे समझ सकता है और न ही स्वीकार कर सकता है। अर्दोगान के अनुसार, एक बच्चे का मतलब है तनहाई, दो का मतलब है प्रतिद्वंद्विता, तीन का मतलब है संतुलन और चार का मतलब है व्याप्त।

उन्होंने कहा, “ज्यादा से ज्यादा बच्चे पैदा करना मुसलमानों के लिए पवित्र काम है। उन्हें अपने वंशजों की संख्या बढ़ानी चाहिए। परिवार नियोजन या जनसंख्या नियंत्रण पश्चिम की देन है। इसमें किसी भी मुस्लिम परिवार को शामिल नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा,”यह अल्लाह का काम है। इसमें कोई हस्तक्षेप नहीं कर सकता। यह महिलाओं का पहला काम है।”

और पढ़े -   केरल: सड़क का नाम रखा गया 'गज़ा', फिलिस्तीनी नाम होने पर उठाई गई आपत्ति

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE