ब्रिटेन में एक यूनिवर्सिटी की इस्लामिक सोसाइटी की मुस्लिम महिला को नस्लीय दुर्व्यवहार का सामना करना पड़ा। एक ‘घिनौने’ हमले में कैम्पस की बिल्डिंग के बाहर उसके हिजाब को खींचकर फाड़ दिया गया।

पाकिस्तानी अखबार ‘एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ की रिपोर्ट के मुताबिक, इस बारे में एक अन्य छात्र ने फेसबुक पर भी पोस्ट किया है। जिसमें उसने बताया कि किस तरह उसकी दोस्त पर हिजाब पहनने पर किस तरह का व्यवहार का सामना करना पड़ा।

और पढ़े -   अरब जगत में शुरू हुआ आज रमजान, मुस्लिम लीडरों ने कहा 'रमजान मुबारक'

बताया जा रहा है कि यह घटना तब हुई जब किंग्स कॉलेज लंदन के कैंपस के बाहर छात्रों के एक समूह ने एक स्टॉल लगाया था। जो ‘डिस्कवर इस्लाम वीक’ के हिस्से के तौर पर लगाया गया था। यूनिवर्सिटी की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि दो सिक्योरिटी मैनेजर्स ने हस्तक्षेप किया। लेकिन छात्रों का कहना है कि उन्हें इसके लिए सवाल-जवाब करने और कार्रवाई करने में वक्त लगा।

और पढ़े -   ओआईसी प्रमुख ने रमजान में इस्लामिक उम्माह को गरीब शरणार्थियों की मदद का आग्रह किया

यूनिवर्सिटी की इस्लामिक सोसाइटी के सदस्य हरीम घानी ने बताया कि युवक महिला से पूछते रहे, “तुमने अपने चेहरे पर ये क्यों पहन रखा है।” इस घटना की पुलिस जांच कर रही है। जांच के लिए सीसीटीवी फुटेज भी सबूतों के तौर उपलब्ध कराए जाएंगे। (News24)


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE